Dard Bhari Shayari – Sad Nazm

Dard Bhari Shayari For Broken Hearts

दर्द का शायरी से बहोत पुराना नाता है. कभी कभी तो लगता है, जैसे अगर दर्द न होता, तो लोग शायर न होते और शायरी कभी पैदा ही न हुई होती.

आप किसी भी शायर ही शायरी को पढ़ के देखें, उनकी शायरी में दर्द कैसा घुला मिला रहता है. आज हम लेकर आये हैं दर्द भरी शायरी में अक नज़्म, ये नज़्म मैने अपनी एक ख़ास याद को समर्पित किया है. आप लोगो में ऐसे बहोत लोग होंगे, जिन्हे इस नज़्म में अपनी कहानी नज़र आएगी.

अगर पसंद आये तो शेयर ज़रूर करे अपने सोशल मिडिया एकाउंट्स में .  गौर फरमाएं इस दर्द भरी शायरी , हिंदी नज़्म पर.

For Broken Hearts here is a Sad Nazm – Tumhari Yaad,  we hope you like it.
Shayari Dard Bhari – 
 
कुछ पुराने ख़त तुम्हारे..कुछ तुम्हारी यादें
तकिये से लिपटी खुशबू तुम्हारी
अब भी ताज़ा हैं.
Dard Bhari Shayari
Dard Bhari Shayari
Dard Shayri Nazm
कुछ पुराने ख़त तुम्हारे..कुछ तुम्हारी यादें
तकिये से लिपटी खुशबू तुम्हारी
अब भी ताज़ा हैं.
तुम्हे देखे हुए अरसा हुआ है
आज भी लेकिन
तुम्हे महसूस करता हूँ,
छलकती आँखों में अपनी.
मेरी हसरत,मेरी ख्वाइश,
फ़कत तुम तक ही सिमटी थी,
बहोत ज्यादा नहीं माँगा,
ख़ुदाया क्या ये गलती थी?
मशहूर अदाकारा मीना कुमारी जी की एक नज़्म दर्द भरी देखें 

चांद तनहा है आसमां तन्हा
दिल मिला है कहां-कहां तनहा

बुझ गई आस, छुप गया तारा
थरथराता रहा धुआं तन्हा

जिंदगी क्या इसी को कहते हैं
जिस्म तन्हा है और जां तन्हा

हमसफर कोई गर मिले भी कहीं
दोनों चलते रहे यहां तन्हा

जलती-बुझती-सी रौशनी के परे
सिमटा-सिमटा सा इक मकां तन्हा

राह देखा करेगा सदियों तक
छोड़ जाएंगे यह जहां तन्हा

Dard Bhari Shayari For Girlfriend

Kuchh puraney khat tumharey…
Kuchh tumhari yaadeyn 
Takiye sey lipti khushboo tumhari, 
Ab bhi tazaa hain.
Tumhey dekhey huye arsa hua hai,
Aaj bhi lekin,
Tumhey mahsoos karta hoon 
Chhalakti aankhon mein apni.
Meri hasrat, meri khwaish,
Fakat tum tak hi simti thhi.
Bahot zyada nahi maanga,
Khudaya, kya ye galati thhi?
तुम मेरी ज़िन्दगी से यूँ गुज़र कर चले गए 
कि जैसे मैं पड़ाव था बस कुछ ही पलों का 
Tum meri zindagi se yun guzar kar chale gaye
Ki jaise main padaao thha kuchh hi palon ka

दर्द शायरी लव

दर्द शायरी लव
दर्द शायरी लव

ना जाने क्यूँ नज़र लगी ज़माने की,
अब वजह मिलती नहीं मुस्कुराने की,
तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज़ था,
हमारी आदत छूट गयी मनाने की

Na jaane kyoon nazar lagee zamaane kee,
Ab vajah milatee nahin muskuraane kee,
Tumhaara gussa hona to jaayaz tha,
Hamaaree aadat chhoot gayee manaane kee

मिरे लबों का तबस्सुम तो सब ने देख लिया
जो दिल पे बीत रही है वो कोई क्या जाने

Mire labon ka tabassum to sab ne dekh liya
Jo dil pe beet rahee hai vo koee kya jaane

New Dard Bhari Shayari
इश्क़ से तबीअत ने ज़ीस्त का मज़ा पाया
दर्द की दवा पाई दर्द-ए-बे-दवा पाया

Ishq se tabeeat ne zeest ka maza paaya
Dard kee dava paee dard-e-be-dava paaya
ज़िन्दगी बेरंग बेनूर सी क्यों है,
ज़िन्दगी की हर ख़ुशी हमसे दूर क्यों है?
वक़्त बीत जाएगा यूँ ही इंतज़ार में लगता है,
आखिर खुदा खुद में इतना मगरूर क्यों है

Zindagee berang benoor see kyon hai,

Zindagee kee har khushee hamase door kyon hai?
Waqt beet jaega yoon hee intazaar mein lagata hai,
Aakhir khuda khud mein itana magaroor kyon hai

हाथ रख रख के वो सीने पे किसी का कहना
दिल से दर्द उठता है पहले कि जिगर से पहले

Haath rakh rakh ke vo seene pe kisee ka kahana
Dil se dard uthata hai pahale ki jigar se pahale

दर्द हो दिल में तो दवा कीजे
और जो दिल ही न हो तो क्या कीजे

dard bhari shayari in hindi

Dard ho dil mein to dava keeje
Aur jo dil hee na ho to kya keeje

Dard Bhari Shayari In Hindi

यारो नए मौसम ने ये एहसान किए हैं
अब याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते

Yaaro nae mausam ne ye ehasaan kie hain
Ab yaad mujhe dard puraane nahin aate

कुछ दर्द की शिद्दत है कुछ पास-ए-मोहब्बत है
हम आह तो करते हैं फ़रियाद नहीं करते

Kuchh dard kee shiddat hai kuchh paas-e-mohabbat hai
Ham aah to karate hain fariyaad nahin karate

अब ये भी नहीं ठीक कि हर दर्द मिटा दें
कुछ दर्द कलेजे से लगाने के लिए हैं

Ab ye bhee nahin theek ki har dard mita den
Kuchh dard kaleje se lagaane ke lie hain

दोस्तों को भी मिले दर्द की दौलत या रब
मेरा अपना ही भला हो मुझे मंज़ूर नहीं

Doston ko bhee mile dard kee daulat ya rab
Mera apana hee bhala ho mujhe manzoor nahin

Gam Shayari In Hindi

ख़ंजर चले किसी पे तड़पते हैं हम ‘अमीर’
सारे जहाँ का दर्द हमारे जिगर में है

Khanjar chale kisee pe tadapate hain ham ameer saare
Jahaan ka dard hamaare jigar mein hai

Gam Shayari In Hindi
Gam Shayari In Hindi

अब तो ख़ुशी का ग़म है न ग़म की ख़ुशी मुझे
बे-हिस बना चुकी है बहुत ज़िंदगी मुझे

Ab to khushee ka gam hai na gam kee khushee mujhe
Be-his bana chukee hai bahut zindagee mujhe

Dard Bhari Shayari Hindi

रहा न दिल में वो बेदर्द और दर्द रहा
मुक़ीम कौन हुआ है मक़ाम किस का था

Raha na dil mein vo bedard aur dard raha
Mumqeem kaun hua hai maqaam kis ka tha

कौन निकलता कोई दिल में बस जाने के बाद
दर्द कितना होता है बिछड़ जाने के बाद
जो पास होता है उसकी कदर नहीं होती
कमी महसूस होती है दूर जाने के बाद

Kaun nikalata koee dil mein bas jaane ke baad
Dard kitana hota hai bichhad jaane ke baad jo
Paas hota hai usakee kadar nahin hotee
Kamee mahasoos hotee hai door jaane ke baad

ना ये महफिल अजीब है, ना ये मंजर अजीब है,
जो उसने चलाया वो खंजर अजीब है,
ना डूबने देता है, ना उबरने देता है,
उसकी आँखों का वो समंदर अजीब है

Nna ye mahaphil ajeeb hai, na ye manjar ajeeb hai,
Jo usane chalaaya vo khanjar ajeeb hai,
Na doobane deta hai, na ubarane deta hai,
Usakee aankhon ka vo samandar ajeeb hai

बिकता है गम ,हंसी के बाजार में
लाखो गम छुपे होते है ,एक छोटे से इंकार में
वो क्या समझ पाएंगे प्यार की तड़प
जिन्हे फरक नहीं मालूम चाहत और प्यार में

Bikata hai gam ,hansee ke baajaar mein
Laakho gam chhupe hote hai ,ek chhote se inkaar mein
Wo kya samajh paenge pyaar kee tadap
Jinhe pharak nahin maaloom chaahat aur pyaar mein

I am sure you must have felt the same what I had felt while writing this Dard Bhari Shayari – Sad Nazm. This is the fact. Love only hurts and makes you a Shayar. Sometimes getting hurt is good for you. It teaches you lessons, which no one can. 
Hoping to see you all soon with some other good shayari. Keep visiting and take care.

Follow us  Here For Sad Quotes 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.