Famous Bashir Badr Shayari

Famous Bashir Badr Shayari – 2 Line ShayariBashir Badr Shab ki shayari aap zindagi ke her ahsas aur feelings ko bahot shiddat se mahsoos karenge. Ye unki shayari ki khasiyat hai.

In this Famous Bashir Badr Shayari Post, we are presenting some famous 2 line Shayari of Bashir Badr Sahab. Please do share them with people who like quality Shayari and look for them.

We are very much sure that you would love to read again and again this Bashir Badr Shayari In Hindi.

2 Line Shayari – Bashi Badr

तुम्हें ज़रूर कोई चाहतों से देखेगा
मगर वो आंखें हमारी कहां से लाएगा।

Tumhey zaroor koi chahaton se dekheyga
Magar wo aankheyn hamaaari kahan sey laayega?

Bashir Badr Shayari
Bashir Badr Shayari

परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता
किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता

Parakhna mat, parakhney mein, koi apna nahi rahta
Kisi bhi aainey mein der tak, chehra nahi rahta

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए।

Ujaaley apni yaadon key, hamaarey saath rahney do
na jaaney kis gali mein zindagi ki, shaam ho jaaye

Famous Bashir Badr Shayari Collection

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

Log toot jaatey hain, ak ghar banaaney mein
tum taras nahi khaatey, bastiyan jalaney mein

हर धड़कते पत्थर को, लोग दिल समझते हैं
उम्र बीत जाती है, दिल को दिल बनाने में।

Her dharktey paththhar ko log dil samjhtey hain
umr bit jaati hai, dil ko dil bananey mein

Famous Shayri Bashir Badr Ki

जिस दिन से चला हूं मिरी मंज़िल पे नज़र है
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा।

Jis din sey chala hoon, miri manzil pe nazar hai
aankhon sey kabhi mil ka paththhar nahi dekha

हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है,
जिस तरफ़ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा।

Ham bhi dariya hain, hamey apna hunar maaloom hai
Jis taraf bhi chal parengey, raasta ho jaayega

मकां से क्या मुझे लेना मकां तुमको मुबारक हो
मगर ये घास वाला रेशमी कालीन मेरा है।

Get this boAt Rockerz 255 Bluetooth Wireless in-Ear Earphones with Mic from Amazon 

Buy Now

Fmaous Bashir Badr Shayari On Love

Makaan se kya mujhey lena, makaan tumko mubarak ho
Magar ye ghaas wala reshmi kaalin mera hai

मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो
मेरी तरह तुम भी झूठे हो
इक टहनी पर चांद टिका था
मैं ये समझा तुम बैठे हो

Mujhsey bichhar key khush rahtey ho
Meri tarah tum bhi jhootey ho
Ek tahni per chaand tika thha
Main ye samjha tum baithey ho

Bashir Badr Shayyari In Hindi

Bashir Badr Shayyari In Hindi
Bashir Badr Shayyari In Hindi

अजीब शख़्स है नाराज़ हो के हँसता है
मैं चाहता हूँ ख़फ़ा हो तो वो ख़फ़ा ही लगे

Ajeeb shakhs hai naaraaz ho ke hansata hai
Main chaahata hoon khafa ho to vo khafa hee lage

Deep Shayari Bashir Badr Ki

वो शाख है न फूल, अगर तितलियां न हों
वो घर भी कोई घर है जहां बच्चियां न हों

Wo shaakh hai na fool, agar titliyan na ho
Wo ghar bhi koi ghar hai, jahan bachchiyan na ho?

Famous Bashir Badr Shayari In Hindi

जिंदगी तू मुझे पहचान न पाई लेकिन
लोग कहते हैं कि मैं तेरा नुमाइंदा हूं।

Zindagi tu mujhey pahchan na paai lekin
Log kahtey hain, ki main tera numaainda hoon

अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ
मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे

Bashir Badr 2 Line Shayari

Bashir Badr Sahab की चंद दो लाइन शायरी पेशे खिदमत है आपके. बशीर बद्र साहब की इन हिंदी दो लाइन शायरी  में आप देखेंगे कि. किस खूबी से, उन्होने बड़ी से बड़ी बात सीधे सीधे लफ़्ज़ों में कही है. तभी तो लोग इन दो लाइन शायरी को इतना पसंद भी करते हैं.

Ajab charaag hoon din raat jalata rahata hoon
Main thak gaya hoon hava se kaho bujhae mujhe

इतनी मिलती है मिरी ग़ज़लों से सूरत तेरी
लोग तुझ को मिरा महबूब समझते होंगे

Itanee milatee hai miree gazalon se soorat teree
Log tujh ko mira mahaboob samajhate honge

अजीब रात थी कल तुम भी आ के लौट गए
जब आ गए थे तो पल भर ठहर गए होते

Ajeeb raat thee kal tum bhee aa ke laut gae
Jab aa gae the to pal bhar thahar gae hote

अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गए हैं
आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते

Ahabaab bhee gairon kee ada seekh gae hain
Aate hain magar dil ko dukhaane nahin aate

bahir badr shayari

इसी शहर में कई साल से मिरे कुछ क़रीबी अज़ीज़ हैं
उन्हें मेरी कोई ख़बर नहीं मुझे उन का कोई पता नहीं

Isee shahar mein kaee saal se mire kuchh qareebee azeez hain
Unhen meree koee khabar nahin mujhe un ka koee pata nahin

अदब की हद में हूं मैं बेअदब नहीं होता।
तुम्हारा तजिकरा अब रोज़-ओ-शब नहीं होता।

कभी-कभी तो छलक पड़ती हैं यूं ही आंखें,
उदास होने का कोई सबब नहीं होता।

कई अमीरों की महरूमियां न पूछ कि बस,
ग़रीब होने का एहसास अब नहीं होता।

मैं वालिदैन को ये बात कैसे समझाउं,
मोहब्बतों में हबस-ओ-नसब नहीं होता।

वहां के लोग बड़े दिलफरेब होते हैं,
मेरा बहकना भी कोई अजब नहीं होता।

मैं इस ज़मीन का दीदार करना चाहता हूं,
जहां कभी भी खुदा का ग़ज़ब नहीं होता।

Bashir Badr Shayari In English 

Adab kee had mein hoon main beadab nahin hota.
Tumhaara tajikara ab roz-o-shab nahin hota.

Kabhee-kabhee to chhalak padatee hain yoon hee aankhen,
Udaas hone ka koee sabab nahin hota.

Kaee ameeron kee maharoomiyaan na poochh ki bas,
Gareeb hone ka ehasaas ab nahin hota.

Main vaalidain ko ye baat kaise samajhaun,
Mohabbaton mein habas-o-nasab nahin hota.

Vahaan ke log bade dilaphareb hote hain,
Mera bahakana bhee koee ajab nahin hota.

Main is zameen ka deedaar karana chaahata hoon,
Jahaan kabhee bhee khuda ka gazab nahin hota.

Famous Bashir Badr Shayari 

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता

जी बहुत चाहता है सच बोलें
क्या करें हौसला नहीं होता

अपना दिल भी टटोल कर देखो
फासला बेवजह नही होता

कोई काँटा चुभा नहीं होता
दिल अगर फूल सा नहीं होता

वो शाख़ है न फूल, अगर तितलियाँ न हों
वो घर भी कोई घर है जहाँ बच्चियाँ न हों

पलकों से आँसुओं की महक आनी चाहिए
ख़ाली है आसमान अगर बदलियाँ न हों

दुश्मन को भी ख़ुदा कभी ऐसा मकाँ न दे

ताज़ा हवा की जिसमें कहीं खिड़कियाँ न हों

मै पूछता हूँ मेरी गली में वो आए क्यों
जिस डाकिए के पास तेरी चिट्ठियाँ न हों

Famous Bashir Badr Shayari 2021

Kuchh to majabooriyaan rahee hongee
Yoon koee bevafa nahin hota

Jee bahut chaahata hai sach bolen
Kya karen hausala nahin hota

Apana dil bhee tatol kar dekho
Phaasala bevajah nahee hota

Koee kaanta chubha nahin hota
Dil agar phool sa nahin hota

Wo shaakh hai na phool, agar titaliyaan na hon
Wo ghar bhee koee ghar hai jahaan bachchiyaan na hon

Palakon se aansuon kee mahak aanee chaahie
Khaalee hai aasamaan agar badaliyaan na hon

Dushman ko bhee khuda kabhee aisa makaan na de
Taaza hava kee jisamen kaheen khidakiyaan na hon

Mai poochhata hoon meree galee mein vo aae kyon
Jis daakie ke paas teree chitthiyaan na hon

Bashir Badr Shayari In Hindi

Bashir Badr Shayari In Hindi
Bashir Badr Shayari In Hindi

कोई हाथ भी न मिलाएगा,जो गले मिलोगे तपाक से
ये नये मिज़ाज का शहर है,ज़रा फ़ासले से मिला करो

Koi haath bhi na milayega, jo galey milogey tapaak sey
Ye naye mijaaz ka shahar hai, zara faasley sey mila karo

सियासत की अपनी अलग इक ज़बां है
लिखा हो जो इक़रार, इनकार पढ़ना।

Best Two Line Shayari Bashir Badr

Siyasat ki apni alag ek zabaan hai
Likha ho jo ikraar, inkaar parhna

किसी की राह में दहलीज़ पर दिया न रखो
किवाड़ सूखी हुई लकड़ियों के होते हैं

For Sad Love Quotes In English Follow Us Here

Kisi ki raah mein dahleez par diya na rakho
Kiwaar sookhi hui lakriyon key hotey hain

बस गई है मेरे अहसास में ये कैसी महक
कोई ख़ुशबू मैं लगाऊं, तेरी ख़ुशबू आए।

Bas gayi hai mere ahsaas mei ye kaisi mahak
Koi khushboo main lagaaun, teri khushboo aaye

Bemisal Bashir Badr Shayari

ख़ुश रहे या बहुत उदास रहे
ज़िन्दगी तेरे आस पास रहे

चाँद इन बदलियों से निकलेगा
कोई आयेगा दिल को आस रहे

हम मुहब्बत के फूल हैं शायद
कोई काँटा भी आस पास रहे

मेरे सीने में इस तरह बस जा
मेरी सांसों में तेरी बास रहे

आज हम सब के साथ ख़ूब हँसे
और फिर देर तक उदास रहे

Bashir Badr Sahab Ki Shayari mein wo maza aur wo zazba hai jo khoon tak pahoonch jata hai. Gaur farmayen

कुछ तो मजबूरियां रही होंगी,
यूं कोई बेवफ़ा नहीं होता।

देने वाले ने दिया सब कुछ अजब अंदाज से,
सामने दुनिया पड़ी है और उठा सकते नहीं।

सर झुकाओगे तो पत्थर देवता हो जायेगा,
इतना मत चाहो उसे वो बे-वफ़ा हो जायेगा।

एक दिन तुझ से मिलने जरूर आऊंगा
जिंदगी मुझ को तेरा पता चाहिए।

कभी धूप दे, कभी बदलियां, दिलोजान से दोनों कुबूल हैं,
मगर उस नगर में ना कैद कर, जहां जिन्दगी की हवा ना हो।

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो,
न जाने किस गली में जिंदगी की शाम हो जाए।

कभी धूप दे, कभी बदलियां, दिलोजान से दोनों कुबूल हैं,
मगर उस नगर में ना कैद कर, जहां जिन्दगी की हवा ना हो।

Also Read Life Shayari 

Khush rahe ya bahut udaas rahe
Zindagee tere aas paas rahe

Chaand in badaliyon se nikalega
Koee aayega dil ko aas rahe

Ham muhabbat ke phool hain shaayad
koee kaanta bhee aas paas rahe

Mere seene mein is tarah bas ja
Meree saanson mein teree baas rahe

Aaj ham sab ke saath khoob hanse
Aur phir der tak udaas rahe

I hope you all like this Famous Bashir Badr Shayari postPlease share them with your friends and on your social accounts. 

Thanks a lot for your time.

Leave a Comment

Your email address will not be published.