Husn Shayari In Hindi

Husn Shayari In Hindi : हुस्न यानी खूबसूरती, ऊपरवाले ने भी जिसे दिया, क्या खूब दिया, कुछ को तो यूँ दिया जैसे उसके बाद उसके खजाने में हुस्न रहा ही न हो। जैसे सबकुछ एक ही इंसान को दे डाला हो।

हालाँकि, ये सच है कि चेह्ररे की सुंदरता ये हुस्न से इंसान की कीमत नहीं आँकी जाती, मगर ये भी उतना ही सच है कि, हुस्न का जलवा हमेशा सर चढ़ के बोलता है। इन Husn Shayari In Hindi में शायरों ने इसी हुस्न को बयां किया है।

हुस्न और शायरी एक दूसरे की बहने हैं, दोनों एक दूसरे से जैसे अलग नहीं रह सकते।

आइये देखते हैं कुछ बेहद ही खूबसूरत हुस्न शायरी, यानी लड़कियों की सुंदरता पर शायरी। इन husn shayari 2 line को आप अपनी गर्लफ्रैण्ड को भी भेज सकते हैं। यकीन माने, वो खुश हो जायेंगी अचानक हुस्न शायरी से अपनी तारीफ़ सुनकर।

Husn Shayari In Hindi

Husn Shayari In Hindi
Husn Shayari In Hindi

आइना देख के कहते हैं सँवरने वाले
आज बे-मौत मरेंगे मिरे मरने वाले

Aaina dekh ke kahate hain samvarane wale
Aaj bay-maut marenge mire marne vale

दाग़ देहलवी

शाम भी थी धुआँ धुआँ हुस्न भी था उदास उदास
दिल को कई कहानियाँ याद सी आ के रह गईं

Shaam bhi thi dhuan dhuan husn bhi tha udaas udaas
Dil ko kai kahaniyan yaad see a ke rah gain
फ़िराक़ गोरखपुरी

तुम हुस्न की ख़ुद इक दुनिया हो शायद ये तुम्हें मालूम नहीं
महफ़िल में तुम्हारे आने से हर चीज़ पे नूर आ जाता है

Tum husn ke khud ek duniya ho
Shaayad ye tumhen maalum nahin
Mahafil men tumhaare aane se
Har cheese pay noor a jaata hai
साहिर लुधियानवी

ऐ सनम जिस ने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी अल्लाह ने मुझ को भी मोहब्बत दी है

Ai sanam jis ne tujhe chaand si surat di hai
Usi allah ne mujh ko bhi mohabbat di hai
हैदर अली आतिश

तेरी सूरत से किसी की नहीं मिलती सूरत
हम जहाँ में तिरी तस्वीर लिए फिरते हैं

Teri surat se kisi ki nahin milati surat
Hum jahan mein tiri tasveer lie firate hain
इमाम बख़्श नासिख़

खूबसूरती पर शायरी

शायरी खूबसूरती पर
शायरी खूबसूरती पर

हसीं तो और हैं लेकिन कोई कहाँ तुझ सा
जो दिल जलाए बहुत फिर भी दिलरुबा ही लगे

Hasin to or hain lekin koi kahaan tujh sa
Jo dil jalaye bahut fir bhi dilruba hi lage
बशीर बद्र

हुस्न के समझने को उम्र चाहिए जानाँ
दो घड़ी की चाहत में लड़कियाँ नहीं खुलतीं

Husn Shayari In Hindi

Husn ke samajhane ko umr chahiye jaanaan
Do ghadi ki chaahat men ladkiyaan nahi khulatin
परवीन शाकिर

इतने हिजाबों पर तो ये आलम है हुस्न का
क्या हाल हो जो देख लें पर्दा उठा के हम

Itne hijabon par to ye alam hai husn ka
Kya haal ho jo dekh len parda utha ke hum
जिगर मुरादाबादी

जिस भी फ़नकार का शहकार हो तुम
उस ने सदियों तुम्हें सोचा होगा

Jis bhi fankar ka shahkar ho tum
Us ne sadiyon tumhe socha hoga
अहमद नदीम क़ासमी

अपनी ही तेग़-ए-अदा से आप घायल हो गया
चाँद ने पानी में देखा और पागल हो गया

Apni hi teg-e-ada se aap ghayal ho gaya
Chaand ne paani mein dekha or paagal ho gaya
मुनीर नियाज़ी

हुस्न शायरी हिंदी में

अदा पर शायरी
शायरी अदा पर

तुम्हारा हुस्न आराइश तुम्हारी सादगी ज़ेवर
तुम्हें कोई ज़रूरत ही नहीं बनने सँवरने की

Tumhaara husn araish tumhari sadagi javer
Tumhe koi zarurat hi nahi banane samvarane key
असर लखनवी

इन शेरों को अपनी गर्लफ्रेंड को भेज के उनकी खूबसूरती की तारीफ़ ज़रूर करें, उनका प्यार आपके लिए कई गुना बढ़ जाएगा और साथ ही AMAZON से ये Speed X Fashion Women Hand Bag With Combo लेकर उन्हें गिफ्ट कर सकते हैं अपने प्यार को जताने के लिए।

Women Hand Bag
Women Hand Bag

फूल गुल शम्स ओ क़मर सारे ही थे
पर हमें उन में तुम्हीं भाए बहुत

Phool gul shams o qamar saare hi the
Par hamen un mein tumhin bhaye bahut
मीर तक़ी मीर

मेरी निगाह-ए-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर
फिर भी तिरा शबाब तिरा ही शबाब है

Meri nigaah-e-shauq bhi kuchh kam nahin magar
Fir bhi tira shabab tira hi shabaab hai
जिगर मुरादाबादी

रुख़-ए-रौशन के आगे शम्अ रख कर वो ये कहते हैं
उधर जाता है देखें या इधर परवाना आता है

Rukh-e-raushan ke aage shama
Rakh kar wo ye kahate hain
Udhar jaata hai dekhen
Ya idhar parvana aata hai
दाग़ देहलवी

ख़ूब-रू हैं सैकड़ों लेकिन नहीं तेरा जवाब
दिलरुबाई में अदा में नाज़ में अंदाज़ में

Khoob-ru hain saikadon lekin nahin tera jawab
Dilarubai mein ada men naaz mein andaaz mein
लाला माधव राम जौहर

ज़माना हुस्न नज़ाकत बला जफ़ा शोख़ी
सिमट के आ गए सब आप की अदाओं में

Zamana husn nazakat bala jafa shokhi
Simat ke a gaye sab aap ki adaaon men
कालीदास गुप्ता रज़ा

खूबसूरत चेहरा शायरी इन हिंदी

खूबसूरत चेहरा शायरी
शायरी खूबसूरत चेहरे पर

इलाही कैसी कैसी सूरतें तू ने बनाई हैं
कि हर सूरत कलेजे से लगा लेने के क़ाबिल है

Ilahi kaisi kaisi surten tu ne banai hain
Ki har surat kaleje se laga lene ke kaabil hai
अकबर इलाहाबादी

हुस्न ये है कि दिलरुबा हो तुम
ऐब ये है कि बेवफ़ा हो तुम

Husn ye hai ki dilruba ho tum
Ab ye hai ki bewafa ho tum
जलील मानिकपूरी

कश्मीर की वादी में बे-पर्दा जो निकले हो
क्या आग लगाओगे बर्फ़ीली चटानों में

Kashmir ki waadi men be-parda jo nikle ho
Kya aag lagaoge barfili chatanon mein
साग़र आज़मी

अजब तेरी है ऐ महबूब सूरत
नज़र से गिर गए सब ख़ूबसूरत

Ajab teri hai ai mahboob surat
Nazar se gir gaye sab khoobsurat
हैदर अली आतिश

हम इश्क़ में हैं फ़र्द तो तुम हुस्न में यकता
हम सा भी नहीं एक जो तुम सा नहीं कोई

Hum ishq mein hain fard to tum husn men yakta
Hum sa bhi nahin ek jo tum sa nahin koi
लाला माधव राम जौहर

Khubsurti ki tareef shayari 2 line

Khubsurti ki tareef shayari
Khubsurti ki tareef shayari

हुस्न आफ़त नहीं तो फिर क्या है
तू क़यामत नहीं तो फिर क्या है

Husn afat nahi to fir kya hai
Tu kayamat nahi to fir kya hai
जलील मानिकपूरी

कौन सी जा है जहाँ जल्वा-ए-माशूक़ नहीं
शौक़-ए-दीदार अगर है तो नज़र पैदा कर

Kaun si ja hai jahaan jalva-a-mashooq nahi
Shauq-a-deedar agar hai to nazar paida kar
अमीर मीनाई

Read Also, Shero Shayari In Hindi

न पाक होगा कभी हुस्न ओ इश्क़ का झगड़ा
वो क़िस्सा है ये कि जिस का कोई गवाह नहीं

Na pak hoga kabhi husn o ishq ka jhagada
Wo kissa hai ye ki jis ka koi gavah nahin
हैदर अली आतिश

तुझे कौन जानता था मिरी दोस्ती से पहले
तिरा हुस्न कुछ नहीं था मिरी शाइरी से पहले

Tujhe con janata tha miri dosti se pahale
Tira husn kuchh nahi tha miri shirey se pahale
कैफ़ भोपाली

अच्छी सूरत भी क्या बुरी शय है
जिस ने डाली बुरी नज़र डाली

Achchhi surat bhi kya buri shay hai
Jis ne dolly buri nazar daali
आलमगीर ख़ान कैफ़

तुझ सा कोई जहान में नाज़ुक-बदन कहाँ
ये पंखुड़ी से होंट ये गुल सा बदन कहाँ

Tujh sa koi jahan mein nazuk-badan kahaan
Ye pankhudi se hont ye gul sa badan kahaan
लाला माधव राम जौहर

स्त्री की सुंदरता पर शायरी

सुंदरता पर शायरी
सुंदरता पर शायरी

निगाह बर्क़ नहीं चेहरा आफ़्ताब नहीं
वो आदमी है मगर देखने की ताब नहीं

Nigaah bark nahi chehra aftab nahi
Wo adami hai magar dekhne ki tab nahin
जलील मानिकपूरी

जिस तरफ़ तू है उधर होंगी सभी की नज़रें
ईद के चाँद का दीदार बहाना ही सही

Jjis taraf tu hai udhar hongi sabhi ki nazren
Id ke chaand ka deedar bahana hi sahi
अमजद इस्लाम अमजद

तेरे होते हुए महफ़िल में जलाते हैं चराग़
लोग क्या सादा हैं सूरज को दिखाते हैं चराग़

Tere hote hue mahafil men jalate hain charagh
Log kya sada hain suraj ko dikhaate hain charagh
अहमद फ़राज़

तिरे जमाल की तस्वीर खींच दूँ लेकिन
ज़बाँ में आँख नहीं आँख में ज़बान नहीं

Tire jamal ki taswir khinch doon lekin
Zabaan mein aankh nahi
Aankh mein zabaan nahin
जिगर मुरादाबादी

Husn Shayari For Girlfriend

Husn Shayari
Husn Shayari

हम अपना इश्क़ चमकाएँ तुम अपना हुस्न चमकाओ
कि हैराँ देख कर आलम हमें भी हो तुम्हें भी हो

Hum apna ishq chamakaaen tum apana husn chamkao
Ki hairaan dekh kar alam hamen bhi ho tumhen bhi ho
बहादुर शाह ज़फ़र

वो चाँद कह के गया था कि आज निकलेगा
तो इंतिज़ार में बैठा हुआ हूँ शाम से मैं

Wo chand kah ke gaya tha ki aj niklega
To intizaar men baithha hua hun shaam se main
फ़रहत एहसास

सुना है उस के बदन की तराश ऐसी है
कि फूल अपनी क़बाएँ कतर के देखते हैं

Suna hai us ke badan ki trash aisi hai
ki phool apani kabaaen qatar k dekhate hain
अहमद फ़राज़

अपने मरकज़ की तरफ़ माइल-ए-परवाज़ था हुस्न
भूलता ही नहीं आलम तिरी अंगड़ाई का

Apne markaz ki taraf mile-a-parvaz tha husn
Bhoolata hi nahi alam tiri angadaai ka
अज़ीज़ लखनवी

Husn Shayari 2 Line

Husn Shayari In Hindi
Husn Shayari Hindi Mein

सूरत तो इब्तिदा से तिरी ला-जवाब थी
नाज़-ओ-अदा ने और तरह-दार कर दिया

Surat to ibtida se tiri la-jawab thi
Naaz-o-ada ne or tarah-dar kar diya
जलील मानिकपूरी

उफ़ वो मरमर से तराशा हुआ शफ़्फ़ाफ़ बदन
देखने वाले उसे ताज-महल कहते हैं

Uf who marmar se taraasha hua shaffaf badan
Dekhne vale use taj-mahal kehte hain
क़तील शिफ़ाई

हुस्न को शर्मसार करना ही
इश्क़ का इंतिक़ाम होता है

Husn ko sharmasar karna hi
Ishq ka intiqam hota hai
असरार-उल-हक़ मजाज़

हुस्न इक दिलरुबा हुकूमत है
इश्क़ इक क़ुदरती ग़ुलामी है

Husn ik dilruba hukumat hai
Ishq ik kudarati gulami hai
अब्दुल हमीद अदम

न पूछो हुस्न की तारीफ़ हम से
मोहब्बत जिस से हो बस वो हसीं है

Na puchho husn ki tarif hum se
Mohabbat jis se ho bas wo hasin hai
आदिल फ़ारूक़ी

Husn Shayari 2 Line In Hindi

Husn Shayari 2 Line
Husn Shayari 2 Line

किसी कली किसी गुल में किसी चमन में नहीं
वो रंग है ही नहीं जो तिरे बदन में नहीं

Kisi kali kisi gul mein kisi chaman men nahin
Wo rang hai hi nahin jo tire badan men nahin
फ़रहत एहसास

किसी का यूँ तो हुआ कौन उम्र भर फिर भी
ये हुस्न ओ इश्क़ तो धोका है सब मगर फिर भी

Kisi ka yun to hua con umr bhar fir bhi
Ye husn o ishq to dhoka hai sab magar fir bhi
फ़िराक़ गोरखपुरी

बहुत दिनों से मिरे साथ थी मगर कल शाम
मुझे पता चला वो कितनी ख़ूबसूरत है

Bahut dinon se mire saath thi magar kal shaam
Mujhe pata chala who kitani khubasurat hai
बशीर बद्र

तेरा चेहरा कितना सुहाना लगता है
तेरे आगे चाँद पुराना लगता है

Tera chehra kitana suhaana lagta hai
Tere age chand purana lagta hai
कैफ़ भोपाली

Hindi Me Husn Shayari

क्या हुस्न ने समझा है क्या इश्क़ ने जाना है
हम ख़ाक-नशीनों की ठोकर में ज़माना है

Kya husn ne samjha hai kya ishq ne jaana hai
Hum khak-nashinon key thokar mein zamaana hai
जिगर मुरादाबादी

ज़रा विसाल के बाद आइना तो देख ऐ दोस्त
तिरे जमाल की दोशीज़गी निखर आई

Zara visal ke baad aaina to dekh ai dost
Tire jamal key doshizagi nikhar i
फ़िराक़ गोरखपुरी

इश्क़ भी हो हिजाब में हुस्न भी हो हिजाब में
या तो ख़ुद आश्कार हो या मुझे आश्कार कर

Ishq bhi ho hijab men husn bhi ho hijab mein
Ya to khud ashkar ho ya mujhe ashkar kar
अल्लामा इक़बाल

उस के चेहरे की चमक के सामने सादा लगा
आसमाँ पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा

Us ke chehare ki chamak ke saamne sada laga
Asamaan pe chaand poora tha magar aadha laga
इफ़्तिख़ार नसीम

इश्क़ का ज़ौक़-ए-नज़ारा मुफ़्त में बदनाम है
हुस्न ख़ुद बे-ताब है जल्वा दिखाने के लिए

Ishq ka zauch-a-nazara muft men badnaam hai
Husn khud bay-tab hai jalva dikhaane ke liye
असरार-उल-हक़ मजाज़

आशा करता हूँ आपको मेरी ये पोस्ट,  Husn Shayari In Hindi अच्छी लगी होगी, प्लीज शेयर करना न भूलें अगर अछ्छी लगी हो तो।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.